HomeHEALTH EDUCATIONkharate ka ilaj | खर्राटे रोकने का के उपाय | क्यों आते...

kharate ka ilaj | खर्राटे रोकने का के उपाय | क्यों आते है खर्राटे

kharate ka ilaj – क्या आप खर्राटे से परेशान है? खर्राटे एक आम समस्या है जिसे हम स्नोरिंग (snoring) भी कहते है इसमें ज़्यादा तर आपका पार्टनर परेशान रहता है क्युकि आपको नींद में अपने ही खर्राटे की आवाज का पता नहीं चलता है। पर आपके पार्टनर को बहुत परेशानी होती है। कभी कभी खर्राटे बहुत तेज होते है।

wikipedia

खर्राटे आने का कारण क्या है – kharate ka ilaj 

ज़्यादा तर मोटापा इसका कारण होता है

बहुत ज़्यादा वजन का बढ़ जाना,

आपने भी देखा होगा की खर्राटे की प्रॉब्लम पुरुषों को ज़्यादा होती है।

तो ऐसे में उनके पार्टनर बहुत परेशान रहते है। और हमेशा खर्राटे की शिकायत करते है, जो लोग रात में ज़्यादा शराब पीते है उनको भी ज़्यादा खर्राटे आते है। जो लोग रात में सोने के लिए दवाइयाँ का इस्तेमाल करते है उनमे भी ये देखा गया है की वो खर्राटे ज़्यादा लेते है।

स्ट्रक्चरल फैक्टर्स (STRUCTURAL FACTORS)

  • किसी किसी में बड़ी जीभ या छोटा जबड़ा होने की वजह से होता है।
  • नाक की हड्डी बड़ी या टेढ़ी होने की वजह से भी होता है।
  • नाक के अन्दर एलर्जी या नाक में पोलिप का हो जाने से होता है।
  • गले के अन्दर टॉन्सिल (tonsil) के हो जाने से होता है। इन सब से भी खर्राटे होते है।
kharate ka ilaj
kharate ka ilaj

खर्राटे आने के बहुत से कारण होते है। जैसे मोटापा एक बड़ी वजह है। ये पुरुषों को ज़्यादा आता है, 30 साल के बाद खर्राटे आना अधिक बढ़ जाता है। अगर किसी का जबड़ा छोटा है या फिर जीभ बहुत बड़ी है या चौड़ी है इनमे खर्राटे आने के ज़्यादा संभावना होते है। इसके अलावा अगर व्यक्ति जरा भी एक्ससाइज नहीं करता है तो उनमे भी खर्राटे आने की अधिक संभावना होती है।

कभी कभी नाक में मांस बड़ा हो जाता है जिसे हम पोलिप कहते है। या फिर और किसी प्रकार का ट्यूमर होता है या तो फिर नाक की हड्डी एक तरफ ज़्यादा बड़ी हो जाती है। जिससे हम DNS या डेवेट्रीनेल सैक्टम भी कहते है और इसकी वजह से भी बहुत ज़्यादा खर्राटे आते है। इसके अलावा कभी कभी नाक के पीछे के एरिया में मांस बढ़ जाता है जिसके कारण से भी खर्राटे आने लगता है। कभी कभी टॉन्सिल भी बहुत बढ़ जाते है जिसकी वजह से खर्राटे आने की संभावना बढ़ जाता है।

जाने खर्राटे आने से आपकी जान को कैसे खतरा हो सकता है।

kharate ka ilaj – बहुत से ऐसे लोग भी होते है जो ये सोचते है

की उनको खर्राटे आने से कोई परेशानी नहीं होती है या कोई प्रॉब्लम नहीं होती है।

पर सच बात तो ये है की खर्राटे आने से कुछ परेशानी होती है

जो मरीज को कभी पता ही नहीं चलता है। जब किसी का खर्राटे बहुत ज़्यादा बढ़ जाते है तो उनको कुछ कुछ दिक्कत होती है। कभी कभी आपने भी सुना ही होगा की किसी को सोते सोते ही हार्ट अटेक आ गया हो इनमे ज़्यादा तर खर्राटे ही ज़िम्मेदार होते है।

दरअसल इन लोगो में होता ये है की सोते हुवे इनके टंग और पैलेट पीछे की ओर गिर जाते है।

जिससे साँस की नली में रुकावट होने लगती है।

जिसकी वजह से साँस को बहार निकलने में ज़्यादा दिक्कत होती है। और ये हवा ज़ोर लगा कर बहार निकलती है और जीभ के अन्दर से हवा टकराती है जिससे खर्राटे की आवाज आती है। इसके कारण से हार्ट के ऊपर अधिक लोड पड़ता है जिससे हार्ट अटेक का खतरा बहुत ज़्यादा बढ़ जाता है। इसलिए खर्राटों को कम करने में ध्यान देना चाहिए।

खर्राटे का इलाज – kharate ka ilaj 

खर्राटे को कम करने के लिए सबसे पहले वजन का कम होना बहुत ज़रूरी है।

60 % खर्राटे तो मोटापे की वजह से ही होते है।

इसलिए आपको ज़्यादा से ज़्यादा एक्सरसाइज करना चाहिए। और वजन को कम करना चाहिए। इसके अलावा अपना लाइफ स्टाइल को भी बदलने की ज़रूरत है गलत खानपान की वजह से भी अनचाहे फैट शरीर में जमा होते है और वजन बढ़ता ही जाता है। इसके अलावा आपको स्मोकिंग और ड्रिंकिंग से भी दूर रहने भी ज़रूरत होगी। जिससे आपके खतरे कही हद तक कम हो जाते है। अगर आपको ज़्यादा खर्राटे आते है तो आप सीधा न सोये – सीधे सोने से खर्राटे ज़्यादा आते है इसलिए आप करवट के कर सोये। और अगर खर्राटे कम न हो तो आपको बाद में सर्जरी की ज़रूरत पड़ सकती है।

रात को सोने से पहले आप एक गिलास गर्म पानी पीये जिससे आपको खर्राटे कम आएगी

या आप गर्म पानी से गरारा भी कर सकते है

इसके अलावा अगर एक चम्मच शहद खा कर सोये तो खर्राटे को कुछ कम किया जा सकता है।

और योग करे, पानी भरपूर मात्रा में पीये, और अपना वजन कम करे, आपको जिस करवट में खर्राटे आते है उस तरह न सोये, सोने का समय एक ही रखें, सोये समय सिर्फ रात को ही सोये दिन में न सोये रोजाना एक्सरसाइज करे और नमक का सेवन कम करे, रात को सोते समय तकिये का इस्तेमाल करे और अपने सर को उचाई पर रख कर सोये जिससे आपको खर्राटे नहीं आएंगे।



READ MORE – 

घुटने में दर्द का इलाज | knee pain treatment in hindi 2021

anemia in hindi | खून की कमी होने के 10 सबसे बड़े लक्षण 2021

black fungus | अचानक ब्लैक फंगस होने की वजह | इतना खतरनाक क्यों?

ghamoriya | घमोरियों का इलाज करने के 6 सबसे बेहतर तरीके है

AMIThttp://healthkikahani.com
Hello Friends, Mera Naam Amit Masih Hai Aur Ye WWW.healthkikahani.com Mera Blog Hai, Jis par Aapko Hindi Me Health Se Related Subhi Jankari Milegi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments