HomeHEALTH INFORMATIONcalcium-symptoms of calcium deficiency 40 के उम्र के बाद कैल्शियम की कमी

calcium-symptoms of calcium deficiency 40 के उम्र के बाद कैल्शियम की कमी

 कैल्शियम हमारे शरीर के लिए क्यों ज़रूरी होता है ?
कैल्शियम की कमी से क्या प्रभाव पड़ता है हमारे शरीर पर?  कैल्शियम को कैसे बढ़ाये ?

calcium – ये सारे सवाल आपके दिमाग में उठते तो होंगे ही तो चलिए आज हम कैल्शियम के बारे में जानते है की ये हमारे शरीर के लिए कितना ज़रूरी होता है।

अगर शरीर में कैल्शियम की कमी होती है तो क्या लक्षण दिखाई दे सकता है – कैल्शियम हमारी शरीर में बहुत ज़रूरी होता है – ये हमारे शरीर का एक मिनरल (mineral) होता है जो की हमारी हड्डियों के अन्दर होता है।

कैल्शियम एक एहम काम करता है बच्चों के छोटे होने से बड़े होने तक ये हमारे शरीर के साथ-साथ हमारी हड्डियों को बड़ा,मजबूत,और लम्बा बनाता है। साथ ही साथ बच्चों के शरीर में अगर कैल्शियम की मात्रा अधिक है तो उनके दाँत अच्छे और जल्दी आते है

अगर आपके शरीर में कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है तो आपकी ग्रोथ अच्छी होती है शरीर की लम्बाई हो या हाथो की चौड़ाई सब अच्छे से विकसित होता है

कैल्शियम के होने से शरीर की अच्छी तरह से विकास होती है आपकी हाइट अच्छी होती है ,आपका शरीर अच्छा और हैल्थी बनता है। किसी भी चीज़ की शरीर में कमी नहीं होती है।

(calcium)

कैल्शियम –

महिलाओं के लिए भी बहुत ज़रूरी होता है जब कोई महिला प्रेगनेंट होती है तो कैल्शियम का होना बहुत ज़रूरी होता है , तभी सारे डॉक्टर महिला को कैल्शियम की जाँच के लिए कहते है। और अगर कैल्शियम की कमी हो तो डॉक्टर कैल्शियम की टेबलेट्स ज़रूर लिखते है। इससे महिला को ताकत तो मिलती ही है साथ ही साथ महिला के बोन्स भी मजबूत बनते है। क्युकी गर्भ धारण के समय माहिला को ज़्यादा ताकत की ज़रूरत होती है और गर्भ में बच्चे की हड्डियों के मजबूती के लिए भी अच्छा होता है।

अधिक उम्र के लोगो में कैल्शियम की मात्रा कम पाई जाती है 40 उम्र के बाद वाले लोगो में अक्सर कैल्शियम कम पाया जाता है।  जिससे हड्डियों में दर्द या शरीर के कई हिस्सों के जोड़ो में दर्द का होना आम बात हो जाता है।  और भी कई तरह के तकलीफ शरीर में होने लगती हैं।  जैसे-  हमेशा कमर में दर्द का होना , कोई भी भारी चीज़ को न उठा पाना, माड़ी में दर्द के कारण चलने में परेशानी होना, या दाँतो का जल्दी कमज़ोर होना , और अगर कभी हड्डियों में ज़रा सा ज़ोर पड़ने पर वहां की हड्डी भी ब्रोक हो सकती है। कुछ ऐसे तकलीफ हो सकते है अगर कैल्शियम की कमी हो गई हो तो।

calcium
calcium

ये भी पढ़े – omega 3 food

कैल्शियम –

 हड्डियों और दाँतो के साथ साथ आपके मसल्स को भी बहुत मजबूती देता है।  हमारे शरीर में कई तरह के ऐंजाइम्स बनते है उनके लिए भी ज़रूरी होता है। कैल्शियम से ब्लड की क्लोटिंग में भी एक एहम स्थान है। कैल्शियम से आपके ब्लड प्रेशर निरन्तर नियमित रहता है। और ये आपके हार्ट बिट को भी कंट्रोल करता है
दोस्तों कैल्शियम की कमी किसी को भी हो सकती है  – बच्चो को,बड़ों को,और महिलाओं को भी हो सकती है।  नॉर्मली तो ये किसी भी उम्र के लोगो को हो सकती है कम उम्र वालो को भी हो सकती है और अधिक उम्र वालो को भी हो सकती है।  पर देखा जाये तो कैल्शियम की कमी ज़्यादा तर महिलाओं को होती है या प्रेगनेंसी के दौरान होती है। और महिलाओं को हॉर्मोन्स इंबैलेंस का भी ज़्यादा सामना करना पड़ता है इसकी वजह से भी कैल्शियम की कमी होती है। ओस्टीओपोरोसिस या कैल्शियम डेफिशियेंसी होती है।

कैल्शियम की कमी होने के लक्षण – calcium 

अगर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो गई है तो आपको कई परेशानी हो सकती है  ज़्यादा तर आपके पैरो या घुटनो में दर्द की परेशानी हो सकती है चलने फिरने में परेशानी या कई बार घुटनो से कट कट की आवाज भी आती है या जब आप सीढिया चढ़ते है तो आपको बहुत परेशानी हो सकती है।  और शरीर में थकावट व सुस्ती बनी रहेगी आपको कही आने जाने का मन नहीं करेगा।
 
कैल्शियम से आपके मसल्स भी मजबूत बनते है और अगर ऐसे में कैल्शियम की कमी होती है तो आपके मसल्स में भी कई जगह पर दर्द होता है जैसे कमर में और पीठ पर।
कैल्शियम से नाखुनो में चमक बनी रहती है और नाख़ून भी मजबूत होते है।  जब आप कभी भी अपने डॉक्टर के पास जाते है तो वो आपके नाख़ून भी चेक करते है की कही कैल्शियम की कमी तो नहीं है आपमें – जब आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है  तो आपके नाख़ून बेजान व रूखे हो जाते है। या नाखुनो में सफ़ेद से धब्बे भी पड़ने लग जाते है।  ये देख कर भी पता कर सकते है की आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो गई है।
 कैल्शियम की कमी से बालो पर असर पड़ना – कैल्शियम की कमी होती है तो बालो पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है बालो का रुखा होना , बाल ज़्यादा झड़ने लगते है।

 कैल्शियम की पूर्ति कैसे करें क्या खाये ?

कैल्शियम को बढ़ने का सबसे अच्छा स्रोत है दूध (milk) या दूध से बने कोई भी चीज़ जैसे – छाछ,पनीर,दही,योगट,चीज़ ये सारे कैल्शियम से भरपूर होते है।  

calcium
calcium

सब्जियों में क्या खाये ?

सब्जियों में पत्तेदार सब्जिया जैसे – पालक ,चौलाई,मूली पत्ता ,ब्रोकली ,भिंडी,टमाटर। अगर आपको कैल्शियम की कमी है तो आपको अपने खाने में ये सारी चीज़े बढ़ा देना चाहिए ताकि आपका कैल्शियम बढ़ सके।  कभी कभी आप आँवला भी खा सकते है दोस्तों आँवला में विटामिन्स सी के साथ साथ कैल्शियम की मात्रा भी बहुत ज़्यादा होती है अगर आप आँवले का सेवन करते है तो काफी मात्रा में आपकी कैल्शियम की कमी पूरी हो सकती है। या आप अंजीर भी खा सकते है

फलों में क्या खाये? calcium 

calcium
calcium

 

calcium
calcium

फलों में भी बहुत सारे ऐसे फल है जो हमे आसानी से किसी भी मौसम में मिल जाते है  जैसे – संतरा, पपीता,अमरुद,सीताफल है जो आप खा सकते है हमेशा
 ड्राई फ्रूट्स में क्या खाये ?
कई ड्राई फ्रूट्स में बहुत सारे कैल्शियम होता है जैसे – खजूर,बादाम  ये दोनों आप रोज़ाना 5 से 6  पीस खा सकते है।
दोस्तों इसके आलावा आप बिन्स ,ओट्स,अलसी,राजमा,छोले,तिल,सोयाबीन्स इन सब में भरपूर विटामिन्स और कैल्शियम होता है जो आपको आसानी से आपके किचन में मिल जाएंगे अगर आपको कैल्शियम की मात्रा को अपने शरीर में बढ़ाना है तो आप भी ये सारे फूड्स अपने खाने में ज़रूर इस्तेमाल करे।
आपको ये जानकारी कैसी लगी हमे ज़रूर बताये आप हमे कमेंट कर सकते है या मेल भी कर सकते है हमारे इस ब्लॉग को ज़रूर फॉलो करे ताकि हर पोस्ट की जानकारी आपको मिल सके धन्यवाद। 

AMIThttp://healthkikahani.com
Hello Friends, Mera Naam Amit Masih Hai Aur Ye WWW.healthkikahani.com Mera Blog Hai, Jis par Aapko Hindi Me Health Se Related Subhi Jankari Milegi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments