HomeayurvedicBenefits of Giloy in corona virus and immunity (कोरोना वायरस में...

Benefits of Giloy in corona virus and immunity (कोरोना वायरस में लाभकारी,गिलोय के इस्तेमाल से अधिक मात्रा में बढ़ती है इम्युनिटी)

7 दिनों तक लगातार खली पेट गिलोय के इस्तेमाल से आपकी इम्युनिटी होगी मजबूत। कई रोग होंगे जड़ से ख़तम।

दोस्तों आपने सुना तो होगा ही की कई प्रकार के गिलोय के टेबलेट मिलते है, गिलोय का जूस मिलता है, घनवटी मिलती है। तो क्या हमे उसका सेवन करना चाहिए? क्या उसमे किसी तरह के केमिकल मिलाये जाते है? Benefits of Giloy

ये हमे फायदे  देते है या हमे पर किसी प्रकार का नुकसान करते है। या आज से हजारो साल पहले हमारी आयुर्वेद की किताब लिखी गई थी, अस्त्रँगरिद्राम उसके अनुसार जो वागबट ऋषि ने लिखी थी। उसके अनुसार घर पर ही आपको गिलोय का पौधा लगा कर आयुर्वेद के अनुसार आपको इसका काढ़ा बना कर सेवन करना चाहिए।दोस्तों मैं किसी भी आयुर्वेदिक कंपनी का नाम तो नहीं ले सकता पर आप खुद ही समझ जाइये  आप समझदार है आप समझ ही गए होंगे दोस्तों ये जो बड़ी बड़ी कंपनी होती है।ये बहुत ही बड़े तादात में या काफी ज़्यादा मात्रा में मैनिफेक्चरिंन मशीनरी यूनिट्स लगाती है। जो लोहे की होती है।  जो हजारो लीटर गिलोय का जूस बनाती है लेकिन दोस्तों आयुर्वेद की किताब अस्त्रँगरिद्राम में ये साफ लिखा गया है।जो पत्थर की खरड़ होती है ,जो स्टोन लांगरी होती है  –जैसे  घरो में हमारी माँ बहने मसाले पिसती है जो पत्थर का होता है सिलबट्टा जिसे कहते है। उसके बिच में गिलोय का सुद्धीकरण नहीं किया जाता।
इसकी डंडी  होती है दोस्तों उसका कड़ा बनाया जाता है तो इसको कूट के इसका सुद्धीकरण नहीं करेंगे इसका काढ़ा नहीं बनायेगे।  बाज़ार  से खरीद कर लाएंगे जिसमे साथ में केमिकल भी मिला होता है और प्रिजर्वेटिव भी मिलाये जाते है। ऐसे में वो एक एक साल तक बच ही नहीं सकता वो जूस।तो दोस्तों उल्टा आपके लिए वो हानिकारक होता है वो जूस आप एलोवेरा का जूस ले कर आते है आंवले का जूस ले कर आते है मार्किट से लेकिन दोस्तों आपको इससे फायदा तो ना के बराबर होता है।और अगर आप लम्बे समय तक इस्तेमाल करोगे तो नुकसान भी करेगा ऐसी चीजे जो लोहे की मशीनों में प्रोसेस की गई हो।तो सबसे पहले आपको एक बात ध्यान में रखना है की आपको घर में एक गमला लगा लीजिये या घर पर अगर ज़मीन पर लगाने की जगह हो तो वह लगा लीजिये। आप कही भी गिलोय को लगा सकते है क्युकी गिलोय को लगाने के लिए ज़्यादा सूरज की रौशनी की भी ज़रूरत नहीं होती
Benefits of Giloy
                   Benefits of Giloy

तो दोस्तों आपको गिलोय का पौधा नर्सरी से ले कर आना है। 30 से 50 रुपये में ये मिल जाएगा सभी की सिटी में नर्सरी तो होती ही है। 

गिलोय का जूस या काढ़ा  –  बनाने की विधि :- 

 
 दोस्तों गिलोय (Benefits of Giloy) का काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले आपको गिलोय की स्टेम  होती है या आप तना भी कह सकते है। फिर आपको उसकी स्टेम ले लेना है दोस्तों आपको गिलोय की लिफ़ को नहीं लेना हैगिलोय का स्टेम और पत्तिया को लेना है और जो घरो में सिलबट्टा हो जो की पत्थरो का होता है। उसमे आपको ये पीस लेना है। या कूट लेना है इतना कूटना है की ये बारीक़ पतला पतला हो जाये। फिर एक गिलास पानी में आपको लगभग 20 से 30 gm जो आपने बारीक़ पेस्ट बनाया है एक गिलास पानी आपको ये मिला लेना है। दोस्तों फिर इसे किसी कंटेनर में  इसे उबाल लेना है इसको इतना उबालना हैकी ये जो एक गिलास पानी है वो आधा गिलास हो जाये। और गाड़ा भी हो जाये। फिर आपको इसे निकाल कर छान लेना है और सुबह आपको ये काढ़ा बिना कुछ खाये- खली पेट आपको हल्का गुनगुना पानी पीना है और फिर इस काढ़े को पीना है।
 आपको इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की आप स्वाथ है या फिर आप रोगी है या आपको कोई भी डिजीज हो गई हो या डॉक्टर ने आपको कुछ खाने से परहेज करने को कहा है। दोस्तों गिलोय एक एसी औषधि है जो किसी में इसका परहेज नहीं होता है ये एक एसी औषधि है।हर कोई इसे ले सकता है – चाहे वो कोई रोगी हो या स्वाथ व्यक्ति :दोस्तों मात्रा में आपने जो आधे गिलास (Benefits of Giloy) का काढ़ा बयाना था उतना ही होना चाहिए और सभी को इसका सेवन करना चाहिए चाहे वो बच्चे हो बूढ़े हो या जवान सभी को। ( फायदों के बारे में बात करे तो सर्दी, खांसी, जुखाम, बुखार आपकी इम्मुनिटी को इतना स्ट्रॉन्ग कर देता है दोस्तों की मौसम बदलने से भी आपको ज़िन्दगी में कभी नहीं होगा।
 10 से 15 मिनट में ये ठीक कर देता है दोस्तों इसके अलावा आपको दातो में दर्द होता है या खून की कमी होती है या प्लेटलेट्स की कमी होती है या आपके जोड़ो घुटनो में दर्द होता है.शारीरिक किसी भी प्रकार का दर्द होता है तो ये काढ़ा पिने से आपको इन सारी तकलीफो में काफी मदद करता है।
  हम और भी गिलोय (Benefits of Giloy) के खूबियों के बारे में अगर बात करे तो ये शरीर को बहुत ही बेनिफिट देता है। – आज कल जो महामारी बहुत ही ज़्यादा फैल रही है। (कोरोना वायरस जो चाइना से पुरे विश्व में फैल रही है। और आपको पता ही है की इतनी तेजी से ये फैल रही है की इसे रोकना भी बहुत ज़्यादा मुश्किल है ) एलोपेथिक में आज तक इसकी कोई मेडिसिन या कोई वेक्सीन नहीं बनी है। लेकिन आयुर्वेद में इम्मुनिटी को काफी बढ़ने और स्ट्रांग करने के लिए या रोग प्रतिरोग की क्षमता को स्ट्रांग करने के लिए आयुर्वेद में ऐसे प्रयोग बताये गए है।(वो आप कर सकते है ,पर आपको आपने से बचाओ तो करना ही है आपको मास्क लगाना, या भीड़ भाड़ वाले इलाके से दूर रहना ही है लेकिन ,आपकी इम्मुनिटी को स्ट्रांग करने के लिए बहुत ही अच्छा गिलोय के 4  प्रयोग बता रहे है इसमें से आप कोई भी एक प्रयोग कर सकते है। )
1 .  दोस्तों आपको 5 gm की मात्रा में गिलोय की सुखी डंडी (स्टेम) जो आपको काफी आसानी से मसाले की दुकान पर मिल जाएगी, और आपको इसको 5  gm को पीस लेनी है पर याद रहे की आपको इसे सिलबट्टे से ही पीसना है।इसके बिच में आपको 5 से 6  तुलसी के पत्ते डाल कर अच्छे से पिस लेना है। और साथ में छोटा सा अदरक का दुकड़ा और कच्ची हल्दी का छोटा सा टुकड़ा ले कर इसको भी पीस लेना है।और साथ में इसमें आधी चुटकी काली मिर्च भी डालनी है इन सब को अच्छे से पीस कर पेस्ट बनानी है और दोस्तों रोज़ आपको इस पेस्ट को थोड़ा सा ले कर इसमें थोड़ा सा शहद मिलाये और दिन में 3 बार खाना खाने से पहले इस पेस्ट को चाटना है।ये आपकी इम्मुनिटी को बहुत अधिक बढ़ता है। इससे आपकी इम्मुनिटी इतनी बढ़ जायेगी की कोई भी वाइरल अटेक आपके शरीर में या कोरोना वायरस आपके अंदर पनप ही नहीं पायेगा उसको आपके शरीर के अंदर ही वायरस को मार देगी या पूरी तरह से ख़तम कर देगी।
2. या अगर आप ये नहीं कर सकते तो आप फिर गिलोय की डंडी को ले कर आइये और कम से कम 10 gm गिलोय को एक गिलास पानी में उबाल ले जब वो आधा गिलास पानी बच जाये तो आपको इसे छान लेना है। और आपको इसे सुबह सुबह खली पेट धीरे धीरे कर के पीना है।
3 . सुबह आपको एक गिलास पानी में 5 तुलसी के पत्ते 2 निम् के पत्ते और साथ में 10 gm अच्छे से कूटे हुवे गिलोय के पेस्ट,इन सबको अच्छे एक गिलास पानी में उबाल लेना है और जब ये भी आधा गिलास पानी बच जाये तो एक चुटकी हल्दी और अगर आप चाहे तो अदरक का थोड़ा था रस भी डाल सकते है।
Benefits of Giloy
                           Benefits of Giloy
4 .  दोस्तों इसके अलावा भी आप और एक चीज़ से बना सकते है। जो वायरस अटेक होने के कारण शरीर में जो काफी कमजोरी आ जाती है ,या बहुत ही थकान या शरीर दुबला होने भी लगता है।उससे जल्दी रिकवर होने के लिए ,10 से 15 gm गिलोय की डंडी को कूट लेना है याद रखिये की आपको हमेशा ही गिलोय को पत्थर के सिलबट्टे से ही पिसे साथ में आपको 1 gm की मात्रा में अश्वगंधा का चूरन सफ़ेद मूसली का चूरन मिला कर और थोड़ा सा शहद मिला कर मरीज को चटवाएगे तो ये बहुत ही फायदेमंद होगा जो आपकी ताकत को और आपकी इम्मुनिटी को काफी बढ़ायेगा।दोस्तों ये बताने का हमारा ये मकसद है की अगर आप ये प्रयोग करते है तो आपको किसी भी प्रकार का वायरस आपके शरीर में टिक ही नहीं पायेगा जो आपको इन्फेक्टेड करे।
 दोस्तों आशा करता हूँ की मेरा ये ब्लॉग आपको पसंद आया होगा मैं आपके लिए और भी ऐसे ही अच्छी -अच्छी जानकारियाँ लाता रहूँगा।  
 
धन्यवाद 
AMIThttp://healthkikahani.com
Hello Friends, Mera Naam Amit Masih Hai Aur Ye WWW.healthkikahani.com Mera Blog Hai, Jis par Aapko Hindi Me Health Se Related Subhi Jankari Milegi.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments