HomeGHARELU NUSKHE12 minat mein anidra ka ilaaj kaise karen 2020

12 minat mein anidra ka ilaaj kaise karen 2020

              अनिद्रा की समस्या को दूर करे 

➤ आज कल नींद ना आना एक आम समस्या बन गई है। जिस पर किसी का कोई ज़ोर भी नहीं चलता हम सब सोचते रहते है की अब नींद आएगी या हम करवटे बदलते रहते है पर हमे नींद नहीं आती। और सुबह हो जाती है, डिप्रेशन नींद ना आना दिमाग की गर्मी  मानसिक तनाव या बहुत ज़्यादा चिड़चिड़ापन होना ये सब देखा जाये तो डिप्रेशन,टेंसन,मानसिक बीमारियों की जड़ है  ये सारी हमारी नींद से जुड़ी होती है ,जो पूरा नहीं होता है।

 

12 minat mein anidra ka ilaaj kaise karen
12 minat mein anidra ka ilaaj kaise karen

कई बार हमारे दिमाग में इतना टेंसन फील होता है जिसकी वजह से हमे रातो को नींद नहीं आती है। जिससे हमे दिन भर चिड़चिड़ापन होता है मानसिक तनाव और डिप्रेशन होता है जिससे दिमागी तौर पर धीरे-धीरे कमज़ोर होने लगते है। और हमारा दिमाग इतना कमज़ोर हो जाता है की आने वाले समय में हमे और भी कई प्रकार की गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ाने लगता है।
 लेकिन हम आज आपके लिए कुछ ऐसे इलाज बताएंगे जिससे आपके नींद ना आने की समस्या और डिप्रेशन को दूर करने में काफी मदद करेगा।
कुछ घरेलु उपाय और इनको कैसे इस्तेमाल करे 
 
1 . पहला जो उपाय है ये उन लोगो के लिए है जिनको नींद ना आने की समस्या है –  इसके लिए आप एक गिलास दूध लीजिये और इसे गरम कर ले और इसके साथ साथ आपको जायफल का चूरन लेना है दोस्तों जायफल में ट्राइमिनिस्टर नाम का एक रासायनिक तत्व पाया जाता है जिसे लेने से हमे नींद ना आने की समस्या से निजाद मिलता है और काम से होने वाली थकावट से भी बहुत राहत मिलती है। 
 
आपको ये जायफल किसी भी मसालों  की शॉप में आसानी से मिल जायेगी आप इसे ले आने के बाद अच्छे से कूट कर या पीस कर पाउडर बना ले  जब ये अच्छे से बारीक़ पाउडर बन जाये तो इसकी बस एक चुटकी एक गरम दूध के साथ सोने से पहले पीना है।  और फिर आप देखिये की आपको रात भर अच्छी और सुकून भरी नींद आएगी और इसके कुछ दिनों के इस्तेमाल से आपको डिप्रेशन,चिड़चिड़ापन,और मानसिक तनाव से राहत मिलना शुरू हो जायेगा। 
 
 
इसे इस्तेमाल करने से आपको रात में 10 से 12 मिनट में अनिद्रा (insomnia) की समस्या को दूर कर सकते है।
2 . पुदीना के पत्ते  –  आपको सबसे पहले 2 गिलास पानी को गरम करना है फिर इसमें आप 20 से 25 पुदीना के पत्ते डाले।  और जब पानी अच्छे से उबल जाये या पानी आधा बच जाये तो इसे किसी छन्नी से छान ले ,जब पानी थोड़ा ठण्डा हो जाये तब इसमें एक चमच्च शहद (honey) मिला कर रात में सोने से पहले पिए आपको अनिद्रा (insomnia) की समस्या से काफी राहत मिलेगा।
3 . त्रिफला – अगर आप रात को देर से खाना खाते है तो ऐसे में सोते समय पाचन क्रिया बहुत देर तक चलती है जिसकी वजह से खाना ठीक से नहीं पचता और आपका दिमाग भी पूरी तरह शांत भी नहीं हो पाता है। ऐसे में आप 5 से 10 gm त्रिफला के चूरन को आधे गिलास गर्म पानी में मिला कर पिए इससे आपका खाना जल्दी पचता है और रात को नींद भी जल्दी आती है।
4 . केला – अनिद्रा के लिए केले भी एक अच्छा उपचार का कारण है। केले नींद को बढ़ाते है केले में प्राकृतिक  रूप से हमारे शरीर के मार्श पेसियो को रिलेक्स करने वाले माँगनेशियम (magnesium) और पोटैशियम (potassium) होता है।  रात को सोने से पहले 2 केले खाने से आपकी भूख भी शांत होती है और आपको नींद भी अच्छी आती है।
5 . – शंख पुष्पी और अश्वगंधा – शंख पुष्पी और अश्वगंधा ये दोनों ही ऐसी जड़ीबूटियां है जो की दिमाग के रोगो और डिप्रेशन में लाभलारी है। आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल बहुत पुराने समय से किया जा रहा है – इसके 4 से 5 दिनों के सेवन से ही आपके नींद ना आने की समस्या और दिमागी रोगो जैसे बीमारियों से छुटकारा मिलता है –शंख पुष्पी और अश्वगंधा के चूर्ण को बराबर मात्रा में मिला ले फिर 5 gm चूर्ण को ले कर घी और मिश्री के साथ इसका सेवन करे और दूध या पानी पी ले।

12 minat mein anidra ka ilaaj kaise karen
12 minat mein anidra ka ilaaj kaise karen

➤ ये भी पढ़े – types of cancer
➤ ये भी पढ़े – omega 3 food 
नींद ना आने के और भी कुछ कारण होते है। – तो चलिए जानते है की ये क्या है।  –
नींद ना आने के दो कारण भी होते है।  पहला  खुशी और दूसरा गम –  इसलिए इन दोनों में से कोई सा भी कारण आपको है तो भी आपको नींद नहीं आएगी क्युकी जब इंसान को ज़्यादा ख़ुशी मिलती है तो वो उसी चीज़ के बारे में ही सोचता रहता है दिमाग में वो बाते ही चलती है।  और जब इंसान को कभी ज़्यादा गम या कोई दुःख हो जाता है तो भी नींद नहीं आती है तब इंसान डिप्रेसन का शिकार हो जाता है।  और उसके दिमाग में वो ही सारी बाते चलने लगती है।
अगर ये दोनों चीज़े ना हो तो इंसान को अपने नियत समय में नींद आ ही जाती है। और जो लोग गहरी नींद से सोते है उन लोगो में ये दोनों कारणों का आभाव होता है। जो लोग ज़्यादा सोते है इन लोगो में ना तो किसी चीज़ का गम होता है ना ही किसी चीज़ की ज़्यादा ख़ुशी होती है इसलिए इनका दिमाग इन सारी बातो और ज़्यादा कुछ सोचने का काम नहीं करता है।  इसलिए ये लोग गहरी नींद लेते है।
  इनको ना ही कोई ख़ुशी होती है और ना ही कोई गम होता है जो इनको जगा कर रख सके इनका दिमाग बहुत नार्मल होता है। और अगर ये दोनों कारण किसी के में नहीं है और वो किसी भी समय सो या उठ सकता है तो ऐसे इंसान को अपने दिमाग और शरीर पर पूरा कंट्रोल रखना आता है या रख सकता है जब भी वो चाहे।
तो आपको करना क्या है – जब भी आप सोये तो आपको सीधा सोना है और अपने दिमाग में कोई भी बातो को ना चलते दे। अब आपको अपने दिमाग से ध्यान लगाना है और साथ ही साथ अपने दिमाग से ही अपने शरीर को महशुस करना है अपने हाथो को फिर अपने पैरो तक आपको शुरू में थोड़ा देर लगेगा पर कुछ दिनों के करने के बाद आप इस क्रिया को अच्छे से कर सकेंगे ऐसा करने से आपको पता भी नहीं चलेगा की आपको कब नींद आ गई।
 इसका कारण ये है की जब आप ऐसा करते है तो आप अपना ध्यान सिर्फ अपने शरीर पर ही लगते है किसी बाहरी बातो पर नहीं ना ही कोई टेंसन पर जब आप ऐसा करते है तो आपके दिमाग के पास और कोई ज़्यादा काम नहीं होता है कुछ सोचने को और जब दिमाग कुछ नहीं सोचता तो आपको 10 मिनट में ही नींद आ जाती है। बस आपको ये ही प्रेक्टिस करना है अपने दिमाग का।
AMIThttp://healthkikahani.com
Hello Friends, Mera Naam Amit Masih Hai Aur Ye WWW.healthkikahani.com Mera Blog Hai, Jis par Aapko Hindi Me Health Se Related Subhi Jankari Milegi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments