Homeayurvedic10 best cough syrup - कफ से हमेशा के लिए छुटकारा

10 best cough syrup – कफ से हमेशा के लिए छुटकारा

विषय सूची hide
1 खांसी हो या बलगम इन cough syrup से आपको मिलेगी जल्द राहत
1.5 10 सबसे सुरक्षित cough syrup कौन से है

खांसी हो या बलगम इन cough syrup से आपको मिलेगी जल्द राहत

cough syrup कौन कौन सी अच्छी कम्पनियाँ है जिसे इस्तेमाल कर के आपको जल्द से जल्द राहत मिलेगी या आपको कफ और खांसी से छुटकारा मिलेगा आप कैसे चुन सकते है सबसे अच्छा सिरप, आप आगे इस पोस्ट को पढ़ कर जान सकते है।

इस ब्लॉग को आगे पढ़ने के बाद आप जान पाओगे की हमे खांसी क्यों आती है, या खासी कितने प्रकार की हो सकती है आपको खासी से क्या क्या परेशानी हो सकती है और 10 सबसे अच्छे कफ सिरप कौन से है जो आपको लेना चाहिए अपनी खांसी को ठीक करने के लिए।

wikipedia

खांसी आने का कारण – cough syrup 

खांसी आना एक प्राकृतिक क्रिया है जिसके द्वारा शरीर से इन्फेक्टेड पार्टिकल को हमारे गले से बहार की ओर निकलते है। जब खांसी कुछ दिनों या एक हफ्ते में ठीक हो जाता है तो इसे डॉक्टर एक्यूड कफ कहते है। और अगर आपकी खांसी दो या तीन हफ्ते से ज़्यादा समय के लिए बनी रहती है तो इसे क्रोनिक कफ कहा जाता है जिससे ये एक बीमारी का रूप भी ले लेती है जिसे आपको बहुत ध्यान देना ज़रूरी हो जाता है।(cough syrup)

1- वातावरण में बहुत अधिक धूल,डस्ट,धुवा। (dust)

2- इन्फ्लुएंजा (flu)

3- अस्थमा (asthma)

4- ब्रोंकाइटिस

5- G.E.R.D (gastroesophageal reflux disease)

6- थ्रोट इंफेक्शन (throat infections)

7- साइनोसाइटिस (sinusitis)

8- COPD

9- difficulties in swallowing

10- tuberculosis

11- लंग्स कैंसर (lungs cancer)

12- निमोनिया (pneumonia)

13-   कोरोना वाइरस (novel coronavirus)

इन सभी बीमारियों के कारण भी खांसी होती है

कितने प्रकार की खांसी होती है ?

खांसी दो प्रकार की होती है –
➤ सुखी खांसी
➤ गीली खांसी

(गीली खांसी) में मियूकस होता है, हमारा शरीर खांसी के द्वारा इस मियूकस को बहार निकालता है।
(सुखी खांसी) में मियूकस न होने के कारण जब हम खांसते है तो हमारे लगे में थोड़ा सा चुभन का एहसास होता है। और आम तोर पर सुखी खांसी किसी भी प्रकार की एलर्जी – अस्थमा या कोरोना वायरस के इंफेक्शन से हो सकती है। आप जब भी कोई भी कफ सिरप ख़रीदे तो आपको ये ज़रूर द जानना चाहिए की आपको किस प्रकार की खांसी है।

कफ सिरप का सेवन हमे कैसे करना चाहिए?

"<yoastmark

जब हम कोई भी cough syrup को पीते है तो ये सिरप हमारे गले के पिछले हिस्से के रिसेप्टर्स पर एक परत को चढ़ा कर गले की खरास को कम करता है। इसलिए ज़्यादा तर सिरप गाढ़ा होता है।

cough syrup का सेवन खाना खाने के बाद ही करना चाहिए। और कम से कम 30 मिनट तक कुछ भी खाना या पीना नहीं चाहिए। अगर आप सिरप के सेवन के तुंरत बाद कुछ खा पी लेते है तो आपके गले के पिछले हिस्से के रिसेप्टर्स पर बनी परत ख़तम हो जाती है।

➤ 1 साल से कम छोटे बच्चे को बिना डॉक्टर से पूछे cough syrup नहीं पिलाना चाहिए। क्युकी इसमें कई तरह के सरेटिब्स होते है जो की बच्चो को नुकसान भी पंहुचा सकते है।

कितने प्रभावशाली है कफ सिरप ? cough syrup

यह एक शोध में डॉक्टर chris van tulleken ने खांसी से राहत देने वाली 3 कफ सिरप पर अध्धय्यन किया है जिसमे –guefenesan, dextromethorphan, pseudoephedrine इस अध्धय्यन में डॉक्टर chris van tulleken ने पाया की अगर इन दवाव से बनी कफ सिरप का सेवन करते है तो इनको पिने से आपको कोई भी फायदा नहीं होने वाला है।अगर आपके घर में भी guefenesan,dextromethorphan,pseudoephedrine से बने हुवे कफ सिरप है तो आपको इनका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसके अलावा कई सिरप में dextromethorphan, और pseudoephedrine जैसी चीज़ो का इस्तेमाल किया जाता है। इन दवाइयों के कई तरह के दुस्प्रभाव हो सकते है। इनके इस्तेमाल से -लिवर, किडनी प्रॉब्लम,increases हार्ट रेट, ट्यूमर जैसी खतरनाक बीमारी आपको मिल सकती है इसलिए जब भी आपको अपने परिवार के लिए कफ सिरप ख़रीदे तो सावधानी ज़रूर बरते।

10 सबसे सुरक्षित cough syrup कौन से है

 

निचे जितने भी कफ सिरप की ब्रैंड है

इनमे किसी भी प्रकार का हानिकारक केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया गया है और इन्हे बनाने के लिए 100 % आयुर्वेदिक और प्राकर्तिक चीज़ो का ही इस्तेमाल किया गया है। ये ब्रैंड की सिरप में किसी भी सीरिट्रिप्स का भी इस्तेमाल नहीं किया गया है. और आप इसका इस्तेमाल बेफिक्र हो कर कर सकते है। और ये कफ सिरप आपको किसी भी मेडिकल की शॉप में बहुत ही आसानी से मिल जाते है।

1 ➤ kanakasava syrup – 16 आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से बना है और इसका इस्तेमाल कफ,टी बी , अस्थमा,भुखार में किया जाता है। इसका इस्तेमाल 5 साल के छोटे बच्चो को नहीं करना चाहिए। इससे आपको – झंडू,सांडू,डाबर,बैद्यनाथ,आर्य वैद्य शाला,avp नागार्जुन कनकसावां जैसी कंपनियों के जरिये बनाये हुवे मिल जाते है इसे आप किसी भी आयुर्वेदिक मेडिकल स्टोर से बहुत ही आसानी से मिल जाएगा ये सिरप 10 साल आसानी से चलता है

10ml बच्चो के लिए और बड़ो के लिए -20 ml जिसको आप बराबर मात्रा में पानी मिला कर सेवन कर सकते है दिन में 2 बार।

2 ➤ baidyabath bhringrajasava – इसमें आपको मिलेगा – भृंगराज,हरीतकी,पीपली,जायफल,चातुजत,घातकी,गुड़,लौंग जैसी चीज़ो का इस्तेमाल किया गया है ,इस सिरप का इस्तेमाल 5 साल तक के उम्र के बच्चो को नहीं करना चाहिए ,और बच्चो के लिए 10ml और बड़ो के लिए 20ml -दिन में दो बार ले सकते है।

3 ➤ pankajakasthuri breathe eazy syrup – इसमें आपको मिलता है – सुखी अदरक,दालचीनी,इमली,जीरा,बेल,मुलेठी,घातकी,इलायची,पीपली,मंजिष्ठा,अक्ष्वगंधा मिश्री जैसी मिश्रण से बना है बच्चो और बड़ो के लिए सुरक्षित है

बच्चो के लिए 7.5ml है और बड़ो के लिए 15ml दिन में 3 बार ले सकते है।

4 ➤ charak pharma kofol syrup – यह सिरप सुखी खांसी और गीली खांसी दोनों में काम आता है। जिनको अस्थमा की समस्या है उनके लिए बहुत ही अच्छा सिरप है। अकरकरा,कबाब चीनी,सोंठ,बनसा,हापुषा,जैसी चीज़ो से बनी है

6 उम्र से कम बच्चो को न दे -बच्चो के लिए 1 चम्मच और बड़ो के लिए 2 से 3 चम्मच दिन में 3 बार इसका सेवन कर सकते है।

5 ➤ dr vaidya’s huff ‘N’ kuff syrup – आयुर्वेद के अनुसार बना ये कफ सिरप जकड़न को दूर कर के साँस लेने में आसानी प्रदान करता है इसे बनाने के लिए – मुलेठी,ब्राह्मी,तुलसी,कपूर जैसी चीज़ो का इस्तेमाल किया गया है। जिन लोगो को डाइबिटीस है उन्हें इस सिरप का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

बच्चो के लिए – आधा चम्मच दिन में 3 बार दे सकते है। और बड़ो के लिए 2 चम्मच दिन में 3 बार दे सकते है।

6 ➤ hamdard joshina herbal cough – ये सर्दी और जुखाम की सिरप है इसमें आपको मिलेगा तुलसी,मुलेठी,सपीसताश,उन्नाब जैसी जड़ी बुटिया है इसके इस्तेमाल से आपको बंद गले और खरास के साथ कफ से भी आपको राहत मिलता है।

इसका इस्तेमाल 6 साल के छोटे बच्चो के लिए नहीं है 6 साल से बड़े बच्चो के लिए 5ml 50ml गर्म पानी के साथ ले ( खाना खाने के बाद ) और बड़ो के लिए 10ml 100ml गर्म पानी के साथ ले दिन में दो बार ले सकते है।

7 ➤ kofton ayurvedic/herbal cough syrup – अगर आपको बहुत ज़्यादा खांसी आती है या आप खांसी की समस्या से परेशान हो चुके है तो आपको इस ब्रैंड का इस्तेमाल करना चाहिए। इसको बनाने के लिए अडूसा,तुलसी,पीपली जैसी चीज़ो का इस्तेमाल किया गया है। इस कफ सिरप के इस्तेमाल करने से गले की सूजन कफ लगे में दर्द या सीने में दर्द और ब्रोंकाइटिस की समस्या से राहत मिलती है।

इसको आप ऐसे इस्तेमाल कर सकते है – 1 साल से कम उम्र के बच्चो को नहीं पिनाना चाहिए-  बच्चो के लिए 5ml दिन में 3 बार और बड़ो के लिए – 10ml दिन में 3 बार ले सकते है।

8 ➤ dabur honitus syrup – इसको बनाने के लिए इसमें शहद,मुलेठी,तुलसी,सुँगठी,वनभ्सा जैसी चीज़ो का इस्तेमाल किया गया है। इस कफ सिरप से आपकी खांसी और कफ दोनों ठीक हो जाते है।

बच्चो को 1 चम्मच दिन में 3 से 4 बार और बड़ो के लिए 2 चम्मच दिन में 3 से 4 बार दे सकते है।

9 ➤ himalaya koflet syrup –ये सिरप एलर्जी ड्राई कफ और स्मोकर कफ के लिए बहुत ही अच्छा है ,इसमें आपको मिल जाता है – मुलेठी,तुलसी,और शहद का इस्तेमाल किया गया है। इसे पिने के बाद आपके गले की खरास और कफ को दूर करता है।

इसको इस्तेमाल करने के लिए – बच्चो के लिए एक चम्मच यानि (5ml) , दिन में 3 से 4 बार दे सकते है , और बड़ो के लिए 1 से 2 चम्मच (5 से 10ml) 3 से 4 बार दिन में ले सकते है।

10 ➤ vaddmaan zecof – pure herbal & nautral ayurvedic cough – और इसको बनाने में इसमें इस्तेमाल किया गया है – नीलगिरी आयल, पेपरमिंट आयल, तुलसी,सोंठ, मुलेठी, कर्कटश्रृंगी,सोमलता,कंटकारी जैसी आयुर्वेदिक चीज़ो का इस्तेमाल किया गया है। इस सिरप को 2 से 3 साल के बच्चो को नहीं देना चाहिए।

इसे आप 2 से 3 चम्मच आधा कप गर्म पानी के साथ दिन में दो बार ले सकते है।

 

आपको ये जानकारी कैसी लगी हमे कमेंट में ज़रूर बताये ।

AMIThttp://healthkikahani.com
Hello Friends, Mera Naam Amit Masih Hai Aur Ye WWW.healthkikahani.com Mera Blog Hai, Jis par Aapko Hindi Me Health Se Related Subhi Jankari Milegi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments